*[33]* 2 Line Shayari in Hindi 2021 (Status, Poetry, SMS)

A huge collection of two Line Shayari Urdu, Hindi sad Shayari, Status Shayari for gf, birthday Shayari for bf, collection of deep meaning Short Shayari SMS for girlfriend in Hindi, Shayari for bf in English massages, heart touching for lover in Hindi images 2021.

Latest 2 Line Shayari in Hindi | Awesome Two Line Shayari, Attitude Poetry on Life.

 

Love sms images photos massages wallpaper dpz

 

गिरना था जो आपको तो सौ मक़ाम थे,

ये क्या किया कि निगाहों से गिर गए.!

 

बिन दिल के जज्बात अधूरे, बिन धड़कन अहसास अधूरे,

बिन साँसों के ख्वाब अधूरे, बिन तेरे हम कब हैं पूरे.!

 

Ghar Ke Bado Ka Kam Hai Nam Rakhna,

Or Apna Kam Hai Nam Bnana .!

 

उसकी मोहब्बत का सिलसिला भी क्या अजीब था?

अपना भी ना बनाया और किसी का होने भी नादिया.!


Broken heart sms images photos massages wallpaper dpz

 

तबाह होकर भी तबाही दिखती नही,

ये इश्क़ है इसकी दवा कहीं बिकती नहीं.!

 

हुआ सवेरा तो हम उनके नाम तक भूल गए,

जो बुझ गए रात में चरागों की लौ बढ़ाते हुए.!

 

सितम ये है कि हमारी सफों में शामिल हैं,

चराग बुझते ही खेमा बदलने वाले लोग.!

 

चेहरे पर सुकून तो बस दिखाने भर का है,

वरना बेचैन तो हर शख्स ज़माने भर का है।


sad wishes sms images photos massages wallpaper dpz

 

हम उस तकदीर के सबसे पसंदीदा खिलौना हैं,

वो रोज़ जोड़ती है मुझे फिर से तोड़ने के लिए.!

 

मैं ‘गलती’ करूँ तब भी मुझे ‘सीने’ से लगा ले,

कोई’ ऐसा चाहिये, जो मेरा हर ‘नखरा’ उठा ले.!

 

बिन दिल के जज्बात अधूरे, बिन धड़कन अहसास अधूरे,

बिन साँसों के ख्वाब अधूरे, बिन तेरे हम कब हैं पूरे.!

 

वो क़त्ल कर के भी मुंसिफों में शामिल है,

हम जान देकर भी जमाने में खतावार हुए.!


Romantic wishes sms images photos massages wallpaper dpz

 

जिन जख्मो से खून नहीं निकलता समझ लेना,

वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है.!

 

फूल बनने की खुशी में मुस्कुरायी थी कली,

क्या खबर थी ये तबस्सुम मौत का पैगाम है.!

 

आँखे खुली जब मेरी तो जाग उठीँ हसरतेँ सारी,

उसको भी खो दिया मैँने..जिसे पाया था ख़्वाब मेँ.!

 

पूजना है तो अपने माँ को पूजिये,

घर में हैं मंदिर और आप बहार मंदिर ढूँढ रहे हैं !


pyar ma wafa wishes sms images photos massages wallpaper dpz

 

मेरी आवाज़ ही परदा है मेरे चेहरे का,

मैं हूँ ख़ामोश जहाँ, मुझको वहाँ से सुनिए.!

 

शायद उसने गलत सुन लिया मेरी तारीफों को,

मैंने उससे कहा था वो गुस्से में अच्छी लगती है, उदासी में नहीं !

 

ये कैसा सरूर है तेरे इश्क का मेरे मेहरबाँ,

सँवर कर भी रहते हैं बिखरे बिखरे से हम.!

वो साथ थे तो एक लफ़्ज़ ना निकला लबों से,

दूर क्या हुए. कलम ने क़हर मचा दिया.!


 

Leave a Comment